इन फिल्मों में इतने ज़्यादा Bold Scene थे कि Censor Board ने रिलीज़ करने की मंज़ूरी ही नहीं दी

बॉलीवुड में हर साल एक से बढ़कर एक फिल्म दर्शकों को देखने को मिलती हैं. वहीँ कुछ लोगों को सस्पेंस-थ्रिलर फ़िल्में पसंद हैं तो कुछ लोगों को एक्शन और कॉमेडी. फिल्मों में अच्छी कहानी के साथ-साथ बोल्ड सीन भी देखने को मिलते हैं. ये तो सभी को पता है फिल्म रिलीज़ से पहले सेंसर बोर्ड का प्रमाण पत्र मिलना ज़रूरी होता है. हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी फिल्मों के बारे में जिनमें अत्यधिक बोल्ड सीन होने की वजह से सेंसर बोर्ड ने उन फिल्मों को बैन कर दिया.

Movies banned for too much intimate scenes

बैंडिट क्वीन (Bandit Queen)

Bandit Queen banned for too much intimate scenes

1996 में बनी फिल्म बैंडिट क्वीन बॉलीवुड में हमेशा से चर्चा में ही रही है. इस फिल्म में एक महिला की इज्ज़त को काफी लोगों ने मिलकर लूटा है. इल्म में काफी ज्यादा बोल्ड सीन होने की वजह से बैन कर दी गयी.

दा पेंटेड हाउस (The Painted House)

The Painted House banned by censor board

2015 में आने वाली फिल्म दा पेंटेड हाउस में एक महिला और एक बूढ़े आदमी के रिश्ते के बारे में दिखाया गया है. इतना ही नहीं फिल्म काफी गंदे सीन होने की वजह से क्लीन सर्टिफिकेट नहीं मिल सका.

यु आर ऍफ़ प्रोफेसर (Urf Professor)

Urf Professor

पंकज अडवाणी द्वारा निर्देशित फिल्म में मनोज पहेवा, और देवांग पटेल जैसे अभिनेता थे. फिल्म में बोल्ड सीन के साथ-साथ कुछ ऐसे भी सीन दिखाए गए थे जो “भारतीय परंपरा” के खिलाफ है.

कामसूत्र (Kama Sutra)

Kama Sutra

फिल्म के नाम से ही लग रहा है कि इस फिल्म में क्या होगा, 1996 में आने वाली फिल्म कामसूत्र को सेंसर बोर्ड ने सर्टिफिकेट न देने की मंजूरी दिखाई.

सिंस (Sins)

Sins

25 जनवरी 2005 को आने वाली फिल्म सिंस को भी क्लीन सर्टिफिकेट नहीं मिल सका. फिल्म में एक प्रीस्ट और एक औरत के बीच के सम्बन्ध की कहानी है. फिल्म को विनोद पांडे ने डायरेक्ट किय है, इतना ही नहीं फिल्म के निर्माता भी विंडो पांडे हैं.


ये भी पढ़ें | UP की 2 महिलाओं ने आपस में रचाई शादी, दिया अपने-अपने पतियों को तलाक़

ये भी पढ़ें | शारीरिक सम्बन्ध बनाते समय इन अभिनेत्रियों की ये है Favorite Sex Position