अयोध्या में मंदिर या मस्जिद? Javed Akhtar ने दिया जवाब

हिंदी फिल्म जगत के मशहूर गीतकार और शायर जावेद अख्तर आज तक चैनल के शो साहित्य आजतक में पहुंचे. वहीँ उन्होंने देश में चल रहे कई मुद्दों पर अपनी राय रखी. इतना ही नहीं जावेद अख्तर इंटरव्यू के दौरान ये भी बोलते हैं, “मैं अधर्मी हूँ.” और साथ हि भी बोलते है कि अयोध्या में मंदिर या मस्जिद कुछ नहीं होना चाहिए.”

अयोध्या विवाद पर कुछ ऐसा बोले Javed Akhtar

अंजना ओम कश्यप  के द्वारा इंटरव्यू लिए जाने पर जावेद अख्तर ने बोला, “मैं अधर्मी आदमी हूँ. अयोध्या क्या दुनियां में कहीं भी नहीं होने चाहिए धार्मिक स्थल. मुझे मंदिर, मस्जिद, गिरजाघर में कोई भी दिलचस्पी नहीं है.”

babri masjid in ayodhya

“मुझे मालूम है की दोनों तरफ के लोग मुझसे नफरत करते हैं. फिर चाहे वो कम्युनल हिन्दू हो या कम्युनल मुस्लिम. मुझे लगता है अगर दोनों तरफ के लोग मुझे गलत बोल रहे हैं तो शायद में सही हूँ.”

“कम्युनल हिन्दू बोलते हैं की तुम देशद्रोही हो तुम्हे पाकिस्तान चले जाना चाहिए तो कम्युनल मुस्लिम बोलते हैं अपना नाम बदलकर हिन्दुओं वाला नाम क्यूँ नहीं रख लेते.”

इतना ही नहीं वहीँ देश के मुद्दों पर भी जावेद अख्तर बोलते हैं ये सिर्फ शहर का नाम बदलने से देश का विकास नहीं होने वाला है.

बॉलीवुड नहीं बल्कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री कहिये: Javed Akhtar

हिंदी फिल्म जगत के ऊपर जावेद अख्तर ने ये भी बोला हैं कि “ये बॉलीवुड क्या है? बॉलीवुड शब्द राष्ट्रभावना के खिलाफ है. लोगों को बॉलीवुड नहीं हिंदी फिल्म इंडस्ट्री बोलना चाहिए.”

वहीँ देश में चल रहे मुद्दों पर जावेद अख्तर अपनी राय पेश करते हुए कहते हैं कि “शहर का नाम बदलने से देश का भला नहीं होने वाला है. मुझे जहाँ तक की पता है की जबसे देश आज़ाद हुआ तब से कुछ ही नए शहर बनवाएं गए हैं और ये काफी दुखद बात है.”

देशप्रेम पर अख्तर साहब ये भी बोलते हैं कि “सभी को अपने देश से प्रेम होता है. मुझे नहीं मालूम की मैरी कॉम कहाँ रहती हैं? उनका घर कहाँ है? पर ये मालूम है की वो हमारे देश की निवासी है और यही हमारे लिए काफी है.”

ये भी पढ़ें | जादवपुर यूनिवर्सिटी प्रोफेसर ने Virgin Girls की तुलना सीलबंद बोतल से कर इन्टरनेट पर मचाया बवाल