UP की 2 महिलाओं ने आपस में रचाई शादी, दिया अपने-अपने पतियों को तलाक़

प्यार धर्म नहीं देखता. अमीर-गरीब नहीं देखता. जात-पात नहीं देखता. और अब आदमी-औरत भी नहीं देखता. आपने ये तो काफी सुना होगा कि प्यार में पत्नी ने अपने आशिक़ से शादी करने के लिए अपने पति को तलाक दे दिया. लेकिन क्या आपने कभी ये सुना है की दो औरतो ने आपस में शादी करने के लिए अपने-अपने पतियों को तलाक दे दिया हो?

जी हाँ. योगी जी की यू.पी. में यही हुआ है. जहाँ दो औरतो ने अपने अपने पतियों को तलाक देकर आपस में शादी कर ली. हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक दोनों औरते एक दूसरे को 6 सालों से चाहती थी लेकिन घर वालो ने दोनों की शादी ज़बरदस्ती कही और करा दी थी.

UP की 2 औरतों ने आपस में रचाई शादी: कॉलेज के वक़्त से था प्यार

lesbain wedding Uttar Pradesh
Representational Image

UP के हमीरपुर की दोनों औरते एक दूसरे को कॉलेज के वक़्त से ही चाहती थी. जब इनके घर वालो को इनके सम्बन्ध के बारे में पता चला तो इन दोनों की शादी ज़बरदस्ती करवा दी गई. इस वक़्त इन दोनों की उम्र 24 और 26 साल है.

पर आखिरकार प्यार की जीत हुई और इन दोनों ने अपने अपने पतियों से अलग होकर इस शनिवार को उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड इलाके में एक मंदिर में शादी कर ली.

रजिस्ट्रार ने शादी रजिस्टर करने से मना कर दिया

homosexuality section 377

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक, दोनों औरतों के वकील, दया शंकर तिवारी ने कहा, “रजिस्ट्रार आर.के. पाल ने इस आधार पर शादी को पंजीकृत करने से इनकार कर दिया है कि समान सेक्स विवाह पर कोई सरकारी आदेश नहीं आया है.”

आपको याद दिला दे कि 6 सितम्बर 2018 को भारत की उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने homosexuality (समलैंगिकता) को वैध क़रार दे दिया था. और इसके साथ ही Section 377 को अमान्य घोषित कर दिया था.