किसका लिंग कितना बड़ा है ये देख कर खिलाडियों को चुनती हूं: जर्मन फुटबॉल कोच

मैदान पर खेल रहे खिलाडियों से अकसर ऐसे सवाल पूछे जाते है कि वे भी व्यंगपूर्ण जवाब देने में मजबूर हो जाते है. कभी-कभी तो कुछ मीडिया वाले ऐसे सवाल करते है कि खिलाडी भी डबल मीनिंग जवाब देने लगते है और अक्सर इस वजह से उनके फैंस पर काफी असर भी पड़ता है. हाल ही में जर्मनी में फुटबाल ग्राउंड पर कुछ ऐसा ही हुआ जब एक फुटबॉल कोच ने बड़े ही आसानी से व्यंगायपूर्ण तरीके से एक रिपोर्टर के सवाल का जवाब दिया. वह फुटबॉल कोच और कोई नहीं बल्कि इम्के वुबेनहॉर्स्ट है.

Imke Wubbenhorst

इम्के वुबेनहॉर्स्ट जर्मनी की पांचवीं श्रेणी में प्रबंधन करने वाली पहली महिला है. यह लोगों के लिए एक खबर से अधिक हो गया जब जर्मन फुटबॉल के पांचवें श्रेणी में बीवी क्लोपेनबर्ग का प्रबंधन करने वाली महिला ने एक रिपोर्टर द्वारा सेक्सिस्ट सवाल पूछे जाने पर अपना आपा नहीं खोया.

Imke Wubbenhorst

इससे पहले जुर्गेन क्लोप्प ऐसे व्यंगपूर्ण जवाब देने में काफी मशहूर थे. कभी-कभी तो वह अपने मजाक से एक माहौल भी तैयार करते थे जिसमें हँसी और तानों से भरी बातें होती रहती थी. लेकिन इस बार इमके वूबबेहोर्स्ट भी उनके रास्ते पर चलती नज़र आई जब एक जर्नलिस्ट ने उनसे पूछा “क्या वे ड्रेसिंग रूम में जाने से पहले खिलाडियों को अपनी पैंट पहन ने को कहती है?”

इस बात पर इमके ने कहा कि वे एक प्रोफेशनल है. ऐसे वे नहीं करती. यहाँ तक कि एक व्यंग्यपूर्ण तरीके से इमके ने यह भी कहा कि मैं खिलाडियों को उनके लिंग के आधार पर चुनती हूं.

ऐसा पहली बार नहीं है जब किसी फीमेल कोच से ऐसा सवाल पूछा हो कि वह व्यंग्यपूर्ण जवाब न दे. पहले भी स्वीडन में वीमेन टीम में मैनेजर रह चुकी पिया संधागे से ऐसा सवाल पूछा गया था. एक रिपोर्टर ने उनसे पूछा कि क्या एक औरत आदमियों की टीम को कोच कर सकती है? हलाकि इस बात को पिया संधागे ने बड़े ही मजाकिया तौर से संभाला.


ये भी पढ़ें | इन फिल्मों में इतने ज़्यादा Bold Scene थे कि Censor Board ने रिलीज़ करने की मंज़ूरी ही नहीं दी

ये भी पढ़ें | Virginity कोई खज़ाना नहीं जो हर लड़की अपने पति के लिए महफूज़ रखे: Kalki Koechlin